श्रद्धांजलि देने अरुण जेटली के घर पहुंच रहे नेता, आडवाणी, राजनाथ, शाह, सिंधिया ने किये अंतिम दर्शन

21

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, ”मुझे हमारे प्रिय अरुण जेटली जी के असामयिक निधन की दुखद और स्तब्ध करने वाली खबर सुनकर बहुत दुख हुआ.” जेटली का 66 साल की आयु में शनिवार को एम्स में निधन हो गया.

नई दिल्ली: बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर दुख जताते हुए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शनिवार को कहा कि देश ने ऐसा नेता खो दिया है जिन्होंने हमेशा समाज की बेहतरी के लिए काम किया. उन्होंने जेटली की पत्नी संगीता जेटली को शोक संदेश भेजकर दुख जताया. सिंह ने कहा, ”मुझे हमारे प्रिय अरुण जेटली जी के असामयिक निधन की दुखद और स्तब्ध करने वाली खबर सुनकर बहुत दुख हुआ.”

मनमोहन सिंह ने कहा, ”जेटली जी विख्यात वकील, शानदार वक्ता, बहुत अच्छे प्रशासक और अद्भुत सांसद थे. उनके निधन से हमारे देश ने एक ऐसा नेता खो दिया है जिन्होंने हमेशा समाज की बेहतरी के लिए काम किया.” पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा, ”दुख की इस घड़ी में मैं आपके और परिवार के दूसरे सदस्यों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं. ईश्वर से प्रार्थना है कि इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करे.”

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और कपिल सिब्बल, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और कई अन्य नेताओं ने भी जेटली के निधन पर दुख प्रकट किया. गौरतलब है कि जेटली का 66 साल की आयु में शनिवार को एम्स में निधन हो गया. पिछले कई दिनों से उनका उपचार चल रहा था.

श्रद्धांजलि देने अरुण जेटली के घर पहुंच रहे नेता, आडवाणी, राजनाथ, शाह, सिंधिया ने किये अंतिम दर्शन

अरुण जेटली के निधन की खबर मिलते ही गृहमंत्री अमित शाह ने अपना हैदराबाद का दौरा रद्द कर दिया और वे वापस दिल्ली लौटे. जेटली के निधन पर एम्स अस्पताल ने औपचारिक बयान जारी किया है. एम्स अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया, ”दोपहर 12.07 बजे पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन हुआ. जेटली 9 अगस्त से एम्स में भर्ती थे और सीनियर डॉक्टरों की देखरेख में उनका इलाज चल रहा था.”

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, कांग्रेस नेता अहमद पटेल, राजीव शुक्ला समेत कई नेता आज अरुण जेटली के आवास पर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी. जेटली का पार्थिव शरीर उनके आवास पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है.