ऊंचाहार परियोजना में 500 मेगावाट की यूनिट में उत्पादन ठप

20

ऊंचाहार (रायबरेली)। एनटीपीसी में 500 मेगावाट उत्पादन क्षमता वाली छह नम्बर यूनिट में तकनीकी खराबी के चलते उत्पादन ठप्प हो गया है। दो दिन पहले आयी खराबी के बाद रविवार की शाम को यूनिट को बंद करना पड़ा है।

गर्मी बढ़ते ही पूरे देश मे बिजली की मांग बढ़ गयी है। इस बीच विद्युत उत्पादन संयंत्र भी धोखा दे रहे हैं। ऊंचाहार परियोजना में 500 मेगावाट क्षमता वाली छह नंबर यूनिट में दो दिन ब्वायलर ट्यूब में गैस का रिसाव हो रहा था। लगातार गैस का दबाव के कारण रिसाव बढ़ता जा रहा था। जिसके कारण रविवार की शाम करीब छह बजे प्रबंधन ने यूनिट को बंद करने का निर्णय ले लिया, और यूनिट को बंद कर दिया गया है। करीब 12 घंटे तक यूनिट को ठंडा करने के बाद मरम्मत का काम शुरू हुआ है परियोजना। सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार सोमवार रात या मंगलवार सुबह तक यूनिट को फिर से चला दिया जाएगा। ज्ञात हो कि ऊंचाहार परियोजना में 210 मेगावाट प्रत्येक यूनिट क्षमता की कुल पाँच और 500 मेगावाट क्षमता की एक यूनिट स्थापित है। इस प्रकार से ऊंचाहार परियोजना की कुल उत्पादन क्षमता 1550 मेगावाट है। ऊंचाहार परियोजना से वियुति आपूर्ति उत्तरी ग्रिड को दी जाती है। जिसके माध्यम से देश के कुल नौ राज्यो को बिजली की आपूर्ति की जाती है। किसी भी यूनिट के बाद होने से ग्रिड पर असर पड़ता है, और संतुलन बनाने के लिए बिजली की कटौती की जाती है। परियोजना के जनसम्पर्क सहायक आज्ञा शरण सिंह ने बताया कि पांच नंबर यूनिट में मरम्मत का काम चल रहा है, जल्द ही उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा।

अनुज मौर्य रिपोर्ट