जातियों को आपस मे लड़ाना चाहते हैं सफेदपोश : अखिलेश माही

267

रायबरेली। -यादव समाज के युवा अध्यक्ष अखिलेश माही, उदय यादव सपा नेता,समाजसेवी अमित यादव मटिहा,व अन्य यादव समाज के लोगो द्वारा एक निजी होटल में आयोजित की गई प्रेस वार्ता में विभिन्न सफेद पोश नेताओं व सत्ताधारियों ने आदित्य उर्फ रवि सिंह हत्याकांड में डिग्री कालेज चौराहे पर धरने के दौरान बाहर से करणी सेना, व अन्य दलो को बुलवाकर जातीयता पर अभद्र टिप्पणी व गाली देने को लेकर यादव सभा रायबरेली घोर निंदा करता है एवं प्रशासन से दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही करने की मांग करती है हम सभी लोग व संगठन कभी किसी आरोपी के पक्षकार नहीं है जो भी फैसला होगा वह माननीय न्यायालय के द्वारा होगा मैं अपने संगठन की तरफ से यह कहना चाहता हूं कि सोमो दा ढाबा प्रकरण जिस तरह से जाति विशेष के लोगों ने एक जाति विशेष को सार्वजनिक रूप से गाली दी है उससे पूरा यादव समाज दुखी हैं और आहत हो गया है और ऐसा प्रतीत होता है कि पिछड़ी जातियों के प्रति इन लोगों में कितनी नफरत भरी हुई है बहुत दुख हुआ जब दो दो जन प्रतिनिधियों ने अपने लेटर पैड पर लिखकर मुख्यमंत्री को न्याय के लिए ज्ञापन दिया अपने सजातीय व्यक्ति के साथ घटित घटना को लेकर आक्रामकता व्यक्त की यह कैसा दर्द है मैं पूछना चाहता हूं कि क्या सिर्फ कोई जनप्रतिनिधि किसी एक जाति या वर्ग का मत पाकर जनप्रतिनिधि बनता है यह लोग जाति मानसिकता से ग्रसित हैं कभी किसी अन्य जाति का भला नहीं चाहते हैं मैं हिंदू होने के नाते यह भी विरोध दर्ज करता हूं कि आखिर बजरंगबली जी का मंदिर रतापुर चौराहे पर क्यों तोड़ा गया जबकि कई वर्षों से पूर्व नेशनल हाईवे अथॉरिटी ने फोरलेन निर्माण के दौरान मंदिर अतिक्रमण की परिधि से बाहर पाया था और गोल चौराहा के सामने जो मंदिर था उसे अतिक्रमण मानकर हटा दिया गया हनुमान जी का मंदिर तोड़ा जाना भी एक तरह की जातीयता है ऐसा लगता है कि प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री जी ने जब से हनुमान जी को दलित बताया है तबसे हनुमान जी के प्रति सामंतवादी विचारधारा वाले लोगों का नजरिया बदल गया है मेरी मांग है कि जाति सूचक गालियां दे वाले को सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में दोषियों की शिनाख्त कर रही कड़ी कार्यवाही करें और हनुमान जी के मंदिर के अवशेषों को हम लोगों को सपोर्ट करें जिससे हम हनुमान जी का भव्य मंदिर अपनी ग्राम सभा मनहेरू में स्थापित कर सकें जिससे जातिवाद मानसिकता वाले लोगों को सद्बुद्धि प्राप्त हो ऐसी हनुमान जी से प्रार्थना है और अगर इन गालिब आज आरोपियों पर कार्यवाही नहीं होती है तो इससे बड़ा धरना प्रदर्शन किया जाएगा जिसका जिम्मेदार जिला प्रशासन होगा।

अनुज मौर्य रिपोर्ट