डीमैट खातों के लिए सेबी ने घटाए चार्जेज, रिटेल इंवेस्टर्स को होगा फायदा

43

बेसिक सर्विसेज डीमैट अकाउंट्स के एनुअल मेंटेनेंस चार्जेज को पूंजी बाजार नियामक सेबी ने संशोधित किया है. ये नियम 1 जून से प्रभावी हो जाएंगे. डीमैट खाते में डेट सिक्योरिटीज को रखने पर ब्रोकरेज फर्म एनुअल मेंटेनेंस चार्ज लेती है. सेबी की यह पहल डेट मार्केट में खुदरा निवेशकों की भागीदारी बढ़ाने के लिए है. बेसिक सर्विसेज डीमैट अकाउंट (बीएसडीए) खुदरा निवेशकों को कम कीमत पर लिमिटेड सर्विसेज उपलब्ध कराती है.

सेबी ने बुधवार को इससे जुड़ा अधिसूचना जारी किया है. सेबी की अधिसूचना के मुताबित बीएसडीए के तहत 1 लाख रुपये तक के डेट सिक्योरिटीज होल्डिंग पर अब कोई भी एनुअल मेंटेनेंस चार्ज नहीं लिया जाएगा और इससे अधिक 2 लाख रुपये तक की होल्डिंग पर अधिकतम 100 रुपये तक का चार्ज ब्रोकरेज फर्म वसूल सकती हैं.

इस समय 50 हजार रुपये होल्डिंग्स पर भी शुल्क

सेबी द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक नए चार्जेज 1 जून से लागू होंगे. इस समय 50 हजार रुपये से अधिक और 2 लाख रुपये से कम के होल्डिंग्स पर 100 रुपये का चार्ज निवेशकों को देना पड़ता है.