दूसरे दिन भी शव रखकर परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी की कर रहे है माँग, युवती ने फाँसी लगाकर कर की थी जीवनलीला समाप्त

113

नसीराबाद (रायबरेली)। मंगलवार की सुबह नसीराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम पूरे पासिन मजरे संडहा में प्रेमी द्वारा शादी से इंकार कर दूसरी युवती से शादी किये जाने से क्षुब्द युवती द्वारा गॉव से बाहर जामुन के पेड़ नें फॉसी से लटक कर जान दिये जाने के मामले में अंतत: नसीराबाद पुलिस ने बुद्धवार की सुबह करीब 11 बजे मृतिका संगीता सरोज की मॉ द्रोपदी पत्नी हुबलाल की तहरीर पर आरोपी पंकज उसके भाई क्रमश: विजय,राहुल ,संजय तथा पिता हुबलाल के खिलाफ मुक़दमा अपराध संख्या 165/19धारा 306 आईपीसी के तहेत दर्ज कर पुलिस ने पंकज को गिरफ्तार कर लिया है। गॉव में आज दूसरे दिन भी पुलिस तैनात है युवती की लाश मंगलवार की शाम ही पीएम के बाद गॉव लायी गयी लेकिन परिजन घर के बाहर शव रखकर सभी आरोपियों की गिऱफ्तारी की मॉग कर रहे हैं इसलिये बुद्धवार देर शाम तक शव दफ्नायी न जा सकी उधर मुख्य आरोपी की बारात भी आज जानी थी लेकिन बारात न जा सकी। थाना प्रभारी धीरेन्द्र कुमार यादव का कहना है कि पीएम रिपोर्ट में युवती की मौत हैंगिग से हुयी है ,इस लिये आत्म हत्या के लिये प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज हुआ है।

बताते चलें कि मंगलवार की सुबह नसीराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम पूरे पासिन मजरे संडहा में एक 20वर्षीय युवती संगीता सरोज पुत्री वीरेन्द्र कुमार सरोज की लाश संदिग्ध अवस्था में गॉव से लगभग 800 मीटर दूर दर्रहिया रोड पर मुर्गी फार्म के निकट जामुन के पेड़ की डाल पर युवती के ही हरे दुबट्टे से झूलती पायी गयी लाश पाये जाने की सू़चना सवेरे ही जंगल में लगी आग की तरह फैल गयी और देखते ही देख सैकड़ों ग्रामीड़ मौक़े पर पहुंच गये इसी के साथ ही गॉव में युवती की मौत को लेकर तरह तरह की चर्चा शुरू हो गयी थी घटना की सूचना पाकर नसीराबाद थाना पुलिस भी मौक़े पर पहुंची और लाश को ग्रामीड़ों की मदद से पेड़ से उतार कर कब्जे में लेकर पीएम हेतु रायबरेली भेजा था। संगीता का प्रेम प्रसंग गॉव के ही एक युवक पंकज पुत्र हुबलाल से वर्षों से चल रहा था। इस बीच युवक शादी का झॉसा देकर युवती का यौन शेषण भी करने लगा। बावजूद इसके पंकज ने जब शादी से साफ इंकार कर दिया, तो संगीता ने नवम्बर 2018 में नसीराबाद थाने में युवक के खिलाफ़ यौन उत्पीड़न व जान से मारने की धमकी देने की तहरीर दी थी लेकिन पुलिस ने पीड़िता को जॉच के नाम पर टरका दिया ,तब युवती ने अदालत का सहारा लिया और अदालत के आदेश पर पुलिस ने आरोपी पंकज के खिलाफ़ 9.11.2018 को यह मामला अपराध संख्या 372/18 धारा 376,506 आईपीसी एक्ट के तहेत दर्ज कर पंकज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। डेढ़ माह बाद जेल से छूटकर आने पर पंकज संगीता को पूरे गॉव में अपने साथियों के साथ घूम घूम कर बदनाम करने लगा और शिकायत करने पर पुलिस भी पंकज के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कर रही थी। 19 जून बुद्धवार को पंकज की शादी डीह थाना क्षेत्र के मऊ गॉव में होने वाली थी, लेकिन पंकज की शादी तो न हो सकी क्योंकि वह अब पुलिस हिरासत में है।

अनुज मौर्य/मुस्तकीम अहमद रिपोर्ट