बाप से मिला हुनर और बेटे ने चालू कर दी अवैध असलहा फैक्ट्री

281

रायबरेली। शहर कोतवाली पुलिस ने अवैध शस्त्र बनाने की एक फैक्ट्री का भण्डाफोड़ करते हुए पांच लोगों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 21 अवैध तमंचे बरामद किये हैं। पुलिस के इस गुडवर्क पर एसपी सुनील कुमार सिंह ने पांच हजार रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है। जानकारी के अनुसार शहर कोतवाली क्षेत्र के चन्द्र नगर में बीते कुछ समय से अवैध असलहा बनाने की फैक्ट्री सक्रिय थी। पुलिस को मुखबिर से जब इस फैक्ट्री की जानकारी मिली तो उसने स्वाट एवं सर्विलांस टीम की मदद से छापा मारकर अवैध असलहे के इस कारोबार का भण्डाफोड़ कर दिया। पुलिस ने इस मामले में प्रेम चन्द्र वर्मा उर्फ टिल्लू पुत्र छोटेलाल निवासी चन्द्र नगर, दिवाकर सिंह पुत्र रतीपाल निवासी पिण्डारीखुर्द थाना महराजगंज, रामसमुझ पुत्र रामेश्वर निवासी कोड़रस बुजुर्ग थाना मिल एरिया, सतीश कुमार उर्फ नान्हू पुत्र भानूप्रकाश निवासी पिण्डारीखुर्द तथा नसीराबाद थाना क्षेत्र के रानीपुर वटमऊ निवासी मुस्ताक पुत्र कर्मशेर को गिरफ्तार कर लिया है। दरअसल पुलिस ने जब इस फैक्ट्री को पकड़ने का जाल बिछाया और अपने ही एक साथी को असलहे की डिलीवरी लेने के लिए भेजा तो इस अवैध कारोबार में जुटे लोग चकमा खा गये। पुलिस कार्यालय में इस बड़े गुडवर्क का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह ने बताया कि पकड़े गये आरोपियों में प्रेमचन्द्र वर्मा तमंचे बनाता है। रामसमुझ खरीददार ढूंढ कर लाता है। मुस्ताक डिलीवरी पहुंचाने का काम करता है। इस सभी लोगों का एक गैंग है, जो वर्षों से ऐसे कारोबार में लिप्त है। कई बार कार्यवाही होने के बाद भी यह लोग नहीं मान रहें हैं। एसपी ने बताया कि डिलीवरी के समय शक हो जाने के कारण इन लोगों का एक आदमी अमीन पुत्र निहाल पूरे मदेपुर थाना नसीराबाद 12 अवैध तमंचे लेकर फरार हो गया है, जिसकी तलाश जारी है। एसपी श्री सिंह ने बताया कि रामसमुझ पेशे से कपड़ा व्यवसायी हैं, लेकिन वह अवैध असलहों के शौकीन लोगों को असलहा दिलाने का काम करते हैं। बीच में बचे कमीशन का फायदा उनके खाते में जाता है। एसपी ने यह भी बताया कि पकड़े गये अभियुक्त तमंचा 3500 रुपए और कारतूस 200 रुपए में बेंचते हैं। फरार आरोपी इस फैक्ट्री में प्रेमचन्द्र का पार्टनर है। पुलिस को इस अवैध असलहा फैक्ट्री में 315 बोर के 20 और 12 बोर का एक तमंचा मिला है। इसके अलावा ग्राइन्डर मशीन तीन जिन्दा, तीन भरुआ और तीन खोखा कारतूस, चार प्लास, 5 किलो का एक गैस सिलेण्डर आदि उपकरण बनाने वाला सामान बरामद हुआ है। इस गुडवर्क का खुलासा करने में शहर कोतवाल अशोक कुमार सिंह, स्वाट प्रभारी राकेश सिंह, सर्विलांस प्रभारी अमरेश त्रिपाठी, एसएसआई कोतवाली संजय कुमार सिंह, एसआई अशोक कुमार सिंह, एसआई रावेन्द्र सिंह, एसआई सुरेन्द्र कुमार सिंह सहित पूरी टीम का सराहनीय योगदान रहा।