बिजली ने बुझा दिया घर का चिराग

139

21 अप्रैल को जानी थी मृतक युवक की बारात

शिवगढ़ (रायबरेली)। थाना क्षेत्र के कस्बे में उस समय मातम छा गया जब अपनी ही शादी की तैयारियों में जुटा युवक विद्युत करंट की चपेट में आकर मौत के गाल में समा गया। बताते चलें कि 27 वर्षीय अमित कुमार उर्फ पिंटू सोनकर पुत्र गोपी चंद सोनकर की 21 अप्रैल को रायबरेली पुलिस लाइन बारात जानी थी। जिसकी तैयारियों को लेकर मृतक अमित उर्फ पिंटू खुद अपने दरवाजे साफ सफाई कर रहा था। तभी वह टीन शेड के पाइप में उतरी करंट की चपेट में आ गया। परिजनों ने किसी तरह धक्का देकर युवक को छुड़ाया और आनन-फानन में उसे सीएचसी लेकर गए जहां चिकित्सकों ने युवक की हालत गंभीर देखते हुए प्राथमिक उपचार के पश्चात उसे ट्रामा सेंटर के लिए रिफर कर दिया। जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक परीक्षण के पश्चात युवक को मृत घोषित कर दिया। युवक की मौत की खबर से समूचे शिवगढ़ कस्बे में कोहराम मच गया। ज्ञात हो कि अमित सोनकर के पिता गोपी चंद सोनकर कैंसर से पीडि़त हैं। जिनका राजधानी लखनऊ के राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल से इलाज चल रहा है। किसी तरह से अमित की मां शान्ति देवी ने सिविल लाइंस रायबरेली से बेटे की शादी तय की थी। दुर्भाग्य है कि जिस विद्युत से घर रोशन होते हैं उसी विद्युत करंट से घर का दीपक बुझ गया। अमित अपने मां बाप का इकलौता बेटा था जो पोस्ट ग्रेजुएट होने के बावजूद नौकरी न मिलने के कारण अपने पैतृक व्यवसाय को अपनाकर किसी तरह परिवार पिता का इलाज और छोटी बहन ऋचा सोनकर और मां की देखभाल के साथ ही परिवार की जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहा था।

अपने माता-पिता का अकेला बेटा था अमित

मृतक अमित सोनकर के घर की हालत बहुत दयनीय थी पिता गोपी सोनकर कैंसर से पीडि़त चल रहे हैं तो मां शांति देवी और मृतक अमित कुमार फल की दुकान लगाकर किसी तरह से जीविका चला रहे थे और किसी तरह ऋचा की पढ़ाई करा रहे थे। अमित का सपना था कि बहन कि पढ़ने के बाद कहीं नौकरी लग जाएगी तो परिवार की स्थिति बेहतर हो जाएगी और पिताजी का इलाज भी ठीक तरीके से हो जाएगा लेकिन न तो अमित बहन की शादी कर पाया और न ही पिता का इलाज करवा पाया।

अनुज मौर्य रिपोर्ट