बेंगलुरु में Unicoin ने खोला देश का पहला Bitcoin ATM; डिजिटल करेंसी की होगी खरीद-बिक्री

31

Unicon के मुताबिक दिल्ली और मुंबई में भी बिटकॉइन एटीएम लॉन्च किए जा सकते हैं.

बेंगलुरु में देश का पहला बिटकॉइन एटीएम लॉन्च किया गया है. वैसे आपको बता दें कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने क्रिप्टोकरेंसी में डील करने पर वर्चुअल बैन लगाया हुआ है. क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज Unocoin ने बेंगलुरु में एक एटीएम बिटकॉइन एटीएम लॉन्च किया है, जो ग्राहकों को कियोस्क से रुपये जमा करने और निकालने की अनुमति देगा.

यूनोकॉइन ने कहा कि जुलाई में RBI के प्रतिबंध के बाद एटीएम लॉन्च करने का निर्णय लिया गया था. “वर्चुअल करेंसी में लेनदेन पर प्रतिबंध पर ‘RBI की हालिया अधिसूचना के कारण’, कुछ समय पहले हमारे बैंकिंग संबंध बाधित हो गए थे.”

Bitcoin ATM कैसे काम करता है?

Unocoin ने कहा कि वह दिल्ली और मुंबई में ऐसे ही कियोस्क लॉन्च करने की योजना बना रहा है. ग्राहक कियोस्क से नकद जमा और निकालने में सक्षम होंगे लेकिन यह सामान्य एटीएम की तरह नहीं होंगे. कियोस्क डेबिट या क्रेडिट कार्ड स्वीकार नहीं करेगा क्योंकि बैंक लेनदेन में शामिल नहीं हो सकते हैं. जमा और निकासी के लिए कम से कम 1,000 रुपये कैश और 500 रुपये के बैंक नोट्स के मल्टीपल में है.

केंद्रीय बैंक ने इस साल 6 जुलाई से क्रिप्टो करेंसी से संबंधित किसी भी कंपनी के साथ रिश्ते को खत्म करने के लिए नियंत्रित सभी बैंकों और कंपनियों से कहा था. इस बीच, सरकार ने कहा है कि क्रिप्टो करेंसी भारत में लीगल टेंडर नहीं हैं.

हाल ही में, अर्जेंटीना ने 30 बिटकॉइन एटीएम स्थापित किए क्योंकि क्रिप्टो करेंसी की मांग बढ़ी है. यह मांग इसलिए बढ़ी क्योंकि करेंसी अमेरिकन डॉलर के मुकाबले अर्जेंटीना की करेंसी peso में बहुत डेप्रिसिएशन देखा गया.अर्जेंटीना में भी, क्रिप्टो करेंसी का समर्थन केंद्रीय बैंक या सरकार द्वारा नहीं किया जाता है.

Bitcoin क्या है?

बिटकॉइन डिजिटल करेंसी है जिसे क्रिप्टो करेंसी भी कहा जाता है. बिटकॉइन को सिर्फ ऑनलाइन इस्तेमाल किया जा सकता है. माना जाता है कि बिटकॉइन की खोज सतोषी नाकोमोतो नामक शख्स ने किया था. आज की तारीख में 1 बिटकॉइन की कीमत करीब 4 लाख 70 रुपये हैं. बिटकॉइन की सबसे छोटी यूनिट सोतषी है और 1 बिटकॉइन 10,00,00,000 सोतषी के बराबर होता है. जैसे इंडियन करेंसी में 1 रुपये में 100 पैसे होते हैं वैसे ही 10 करोड़ सतोषी से मिलकर एक बिटकॉइन बनता है.