यूपी-उत्तराखंड में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 90 हुई

47

दोनों राज्यों में जहरीली शराब की बिक्री पर रोक लगाने के लिए अभियान चलाया गया है. दोनों राज्यों के प्रशासन ने मृतकों के परिवारों को दो दो लाख रूपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है.

लखनऊ: यूपी के सहारनपुर, कुशीनगर और उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में जहरीली शराब पीने से होने वाली मौतों की संख्या 90 हो गई है. सहारनपुर में 56, हरिद्वार में 23 जबकि पूर्वी यूपी के कुशीनगर में 11 की मौत हुई है. सहारनपुर के डीएम आलोक कुमार पाण्डेय ने बताया कि शराब उत्तराखंड राज्य के गांव बल्लूपुर में ही बनाई गई थी और परोसी गई थी.

उधर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर और कुशीनगर की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. योगी ने कहा कि साजिश के एंगल से भी जांच की जाएगी. उन्होंने कहा कि इससे पहले ऐसे कई मामलों में समाजवादी पार्टी के नेता पकड़े जा चुके हैं. दोनों राज्यों में जहरीली शराब की बिक्री पर रोक लगाने के लिए अभियान चलाया गया है.

यूपी के आबकारी विभाग के अनुसार 279 मुकदमे दर्ज करके 175 गिरफ्तार किए गए हैं. कुशीनगर मामले में कमिश्नर ने जांच बिठा दी है और 46 पुलिसकर्मी लाइन हाजिर कर दिया गया है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कुशीनगर और सहारनपुर जिलों के जिला आबकारी अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने का आदेश दिया है. उत्तराखंड में आबकारी विभाग के 13 अधिकारियों और चार पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है. दोनों राज्यों में जहरीली शराब की बिक्री पर रोक लगाने के लिए अभियान चलाया गया है.

यूपी पुलिस ने बताया कि गांव का एक निवासी तेरहवीं पर पिलाने के लिए शराब के 30 पाउच संभवत: उत्तराखंड से लाया था. इस मामले में अभी और जानकारी आनी बाकी है और तफ्तीश जारी है. दोनों राज्यों की सरकारों ने प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों को लापरवाही बरतने के लिए निलंबित कर दिया है और मामले की जांच के आदेश दिए हैं. दोनों प्रशासनों ने मृतकों के परिवारों को दो दो लाख रूपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है.