रेवाड़ी गैंगरेप: आरोपियों का सुराग देने वाले को मिलेंगे ₹ 1 लाख, जल्द जारी होंगे स्केच- SIT

127

लड़की का कथित तौर पर उस समय अपहरण कर लिया गया था जब वह कोचिंग सेंटर से घर लौट रही थी। राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित स्कूल टॉपर पीड़िता के पिता ने कहा कि हो सकता है उनकी बेटी से आठ-दस लोगों ने रेप किया हो।

चंडीगढ़: हरियाणा के रेवाड़ी में नशीले पदार्थ खिलाकर 19 साल की सीबीएसई टॉपर से गैंगरेप करने के आरोपी तीन लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। वहीं मामले की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन कर दिया गया है। आज एसआईटी की चीफ नाजनीन भसीन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एलान किया है कि आरोपियों का सुराग देने वाले को एक लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस जल्द ही तीनों आरोपियों के स्केच जारी करेगी।

एक लाख रुपए इनाम देने का एलान

नाजनीन भसीन ने बताया है, ‘’इस मामले में तीन आरोपियों पंकज, मनीष और नीशू की तलाश तेज कर दी गई है।’’ उन्होंने बताया है, ‘’मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि हुई है। हमने आरोपियों को पकड़ने के लिए कई टीमें बनाई हैं। हम लोगों से अपील करके हैं कि आरोपियों के बारे में पुलिस को सूचना दे। सूचना देने वाले को एक लाख का इनाम दिया जाएगा।’’ बता दें कि घटना के तीन दिन बाद भी आरोपी फरार हैं।

घटना के बाद से सदमे में है मेरी बेटी- पीड़िता की मां

गौरतलब है कि तीन दिन पहले कनीना बस अड्डे से लड़की का कथित तौर पर उस समय अपहरण कर लिया गया था जब वह कोचिंग सेंटर से घर लौट रही थी। राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित स्कूल टॉपर पीड़िता के पिता ने कहा कि हो सकता है उनकी बेटी से आठ-दस लोगों ने बलात्कार किया हो। वहीं, पीड़िता की मां ने कथित तौर पर कोई कार्रवाई न होने पर पुलिस पर हमला बोलते हुए कहा कि उनकी बेटी घटना के चलते सदमे में है और आरोपी घटना के बाद खुलेआम घूम रहे हैं।’’

ड़की के पिता ने शुक्रवार को रेवाड़ी में कहा, ‘‘उसने (पीड़िता) तीन लोगों का नाम लिया है, लेकिन जिस समय भयावह घटना हुई, उसे ऐसा लगा कि वहां आठ-दस लोग रहे होंगे।’’  उन्होंने उल्लेख किया कि आरोपियों ने उसे नशीला पदार्थ खिला दिया था।

आसपास के इलाकों में छापेमारी जारी- पुलिस

इस मामले पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि कानून अपना काम करेगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि दोषियों को दंड मिलेगा। महेंद्रगढ़ के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार ने कहा, ‘‘हम छापेमारी कर रहे हैं और उम्मीद है कि गिरफ्तारियां जल्द होंगी।’’  उन्होंने कहा कि रेवाड़ी और महेंद्रगढ़ जिलों और आसपास के इलाकों में छापेमारी की जा रही है।

पीड़िता की मां कहा, ‘‘सरकार बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की बात करती है, लेकिन हमारी लड़कियों को शिक्षा ग्रहण करने के लिए क्या यह कीमत चुकानी पड़ेगी? आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं, लेकिन पुलिस उन्हें पकड़ने में नाकाम रही है।’’  पीड़िता की मां ने कहा, ‘‘पुलिस कोई भी कार्रवाई करने में विफल रही है। हमें शिकायत दर्ज कराने के लिए इधर-उधर भटकना पड़ा। प्राथमिकी रात एक बजे दर्ज की गई क्योंकि पुलिस रेवाड़ी और कनीना के चक्कर में अधिकार क्षेत्र को लेकर उलझी रही।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम सब न्याय चाहते हैं।’’

पीड़िता के ही गांव के रहने वाले हैं आरोपी

कनीना थाने के प्रभारी निरीक्षक अनिरुद्ध ने बताया कि 20-25 साल की उम्र के आरोपी युवक पीड़िता के ही गांव के रहने वाले हैं। प्राथमिकी के अनुसार बुधवार को युवती कोचिंग क्लास लेने गई थी जहां दोपहर बाद उसका उस समय अपहरण कर लिया गया जब वह कनीना में बस अड्डे पर बस का इंतजार कर रही थी।

पीड़िता ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि कार में पहुंचे आरोपियों ने उसका अपहरण कर लिया और उसे सुनसान स्थान पर ले गए। वहां उन्होंने उसे नशीला पदार्थ मिली कोल्ड ड्रिंक पिलाई और सामूहिक बलात्कार किया। आरोपी बाद में उसे कनीना में बस अड्डे के पास छोड़ गए। इस बीच, पेट दर्द की शिकायत के बाद पीड़िता को रेवाड़ी में एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।