विद्यालय में लगा था ताला अधिकारि और बच्चे खड़े थे भीषण गर्मी में स्कूल परिसर के बाहर

35

ऊंचाहार (रायबरेली)। गंगा कटरी क्षेत्र के परिषदीय विद्यालयों मे षिक्षा व्यवस्था रामभरोसे ही संचालित है, जिसको लेकर विभाग की पोल कोई और नहीं बल्कि मौके पर निरीक्षण करने पहुंची एबीआरसी की दो सदस्यीय टीम जब ब्लाक के गंगाकटरी क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय खरौली का औचक निरीक्षण किया तो वहां पर विद्यालय में ताला बंद मिला और बच्चे इधर-उधर बैठकर मध्यान्ह भोजन खाते हुए मिले। जिसकी रिपोर्ट भी एबीआरसी टीम ने बीईओ व उच्चाधिकारियों को भेजा है।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार समय 9ः30 बजे एबीआरसी अनिल कांत व आषा मौर्य की दो सदस्यीय टीम निरीक्षण करने ब्लाक के गंगा कटरी प्राथमिक विद्यालय खरौली का औचक निरीक्षण किया गया, जहां पर विद्यालय में ताला लगा हुआ मिला है। एक कमरा खुला था, जहां पर रसोइयां द्वारा बच्चों की षिक्षा का संचालन करते हुए पाया गया और तो और बच्चों की झुंड इधर-उधर बैठकर मध्यान्ह भोजन कर रहे थे। जिसमे तैनात रसोइयां विमला, धनराजा, किषमतुन निषा द्वारा बताया गया कि प्राधानाध्यापक अरविन्द कुमार नहीं आए है। जबकि सहायक अध्यापक नवनीत सोनकर बीआरसी में हो रहे प्रषिक्षण में जाने को बताया गया। यहां के बच्चों की माने तो दो दिनों से यहां पर अध्यापक न होने पर मध्यान्ह भोजन करके वापस होना पड़ रहा है, जिसमें बच्चों की षिक्षा रामभरोसे होने पर आप भी अंदाजा लगा सकते है कि बच्चों की षिक्षा कैसे सुधरेगी। कैसे परिषदीय विद्यालयों के बच्चों का सपना वैज्ञानिक व कलेक्टर बनने से लेकर देष की सेवा करने हेतु पूरा होगा। बच्चों की षिक्षा के प्रति विभाग के अधिकारियों की षिथिलता भी माना जाता है। एबीआरसी अनिल कांत ने बताया कि विद्यालय बंद होने की सूचना और अनियमिताएं की सूचना राज्य परियोजना अधिकारी कार्यालय व बीईओ एवं अन्य विभागीय उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट भेज दिया गया है। उधर बीईओ अनिल त्रिपाठी ने बताया कि एबीआरसी की रिपेर्ट के अधार पर अग्रिम कार्यवाही किया जाएगा क्योकि विद्यालय का संचालन बंद करने पर सख्त कार्यवाही करने का प्रविधान है।

अनुज मौर्य रिपोर्ट