विवेक तिवारी हत्याकांड : निलंबित सिपाही ने एसएसपी को इस्तीफा सौंपा

180

बता दें कि विवेक तिवारी की हत्या के मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग वाली जनहित याचिका इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने खारिज कर दी है. हाईकोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि याची का इस मामले से कोई वास्ता नहीं है, इसलिए इसे खारिज किया जाता है.
एटा: उत्तर प्रदेश की राजधानी में एपल कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की एक पुलिस कांस्टेबल की गोली से हत्या के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो डालने पर निलंबित किए गए यूपी पुलिस के बागी सिपाही सर्वेश चौधरी ने एसएसपी को अपना इस्तीफा सौंप दिया है. हालांकि एसएसपी ने उसे स्वीकार नहीं किया है.
निलंबित सिपाही सर्वेश शुक्रवार दोपहर को एसएसपी आशीष तिवारी से मिलने उनके बंगले पर पहुंचा. उसने पुलिस व्यवस्था पर प्रश्नचिह्न् लगाते हुए अपना इस्तीफा सौंप दिया. सर्वेश ने अपने त्यागपत्र में साफ लिखा है कि वह अपने होश में और परिवार की सहमति के बाद ही इस्तीफा दे रहा है.
निलंबित सिपाही ने कहा कि वह किसी के दबाव में नौकरी नहीं कर सकता. पुलिस में नौकरी करना आत्महत्या से कम नहीं है, इसलिए उसने यह फैसला लिया है.
हालांकि एसएसपी आशीष तिवारी ने सर्वेश चौधरी का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया है. बताया जा रहा है कि इस्तीफा देने आए सर्वेश को साथी पुलिसकर्मियों ने समझा-बुझाकर वापस कर दिया.
मथुरा निवासी सर्वेश चौधरी ने लखनऊ में विवेक तिवारी मामले के आरोपी सिपाहियों के खिलाफ हुई कार्रवाई के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो डाला था. वीडियो में उसने जनप्रतिनिधि और मीडिया पर भड़ास निकाली थी. वीडियो वायरल होने के बाद सिपाही को निलंबित कर दिया गया था.