वीरा पासी की बहादुरी का अंग्रेज भी लोहा मानते थे

68

अमर शहीद वीरा पासी का जन्म उत्सव धूम धाम से मनाया गया

लालगंज (रायबरेली)। लालगंज नगर पंचायत में मनाया गया वीर वीरा पासी का जन्म उत्सव इस मौके पर मुख्य अतिथि के रुप में राष्ट्रीय भागीदारी मिशन के मुख्य संयोजक माननीय सुशील पासी उपस्थित रहे। श्री पासी ने कहा कि वीरा पासी देश के लिए शहीद हुए थे वे किसी एक जाति या किसी एक धर्म के नही लड़े थे ।भारत के समस्त नागरिकों को जब तक समस्त क्षेत्रों में आगे बढ़ने का मौका नहीं मिलेगा या भागीदारी नहीं मिलेगी तब तक हम वीरा पासी के सपनों का भारत नहीं बना सकते हैं। देश की आजादी में हम जाति और धर्म के लोगों ने अपना खून बहाया है। 1857 की क्रांति में शहीद हुए शहीदों का चित्रण करते हुए कहा कि आज के युवाओं को देश के लिए शहीद हुए वीरों से प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सियासत करने वालों ने हमें आपस में लड़ आया जिससे देश कमजोर हुआ यह देश भाईचारे और बंधुत्व से चलेगा। हमारी वसुधैव कुटुंबकम हमारे विश्व गुरु बनने की ओर एक बड़ा कदम है। उन्होंने कहा कि हमारा समाज सामाजिक रूप से संगठित होता है, हम सब मिलकर सामाजिक सम्मेलन तो करते हैं परंतु अब हमें जरूरत है अब हम राजनीतिक रूप से संगठित हो और प्रदेश में अपनी भूमिका तय करें। इस मौके पर मुख्य अतिथि ने विभिन्न क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले छात्र छात्राओं को अंग वस्त्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया तथा वीरवार वीरा पासी ट्रस्ट के सदस्यों को उक्त कार्यक्रम के लिए धन्यवाद दिया।

इस मौके पर राष्ट्रीय भागीदारी मिशन के जिला प्रभारी सुरेन्द्र मौर्य जी, जिला अध्यक्ष यशपाल एडवोकेट जी , जिला महासचिव शिवप्रसाद जी विजय कुमार जी इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर योगेश राजेश वर्मा जी समेत हजारों की संख्या में लोग उपस्थित रहे।

अनुज मौर्य/सन्दीप फ़िज़ा रिपोर्ट