शहर कोतवाली और नसीराबाद पुलिस ने दबोचे चोर

30

रायबरेली। प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर अशोक कुमार सिंह, उप निरीक्षक नारायण कुमार कुशवाहा व प्रभारी सर्विलांस स्टीम राकेश कुमार की संयुक्त टीम ने सहारा होटल के निकट के पास अभियुक्त गुफरान (22) पुत्र मो. हनीफ निवासी बड़ा घोसियाना को पकड़कर उसके पासे से चोरी के दस मोबाइल विभिन्न कंपनी के बरामद किए हैं। अभियुक्त सुफियान पुत्र अकील निवासी गांधी नगर गोल चैराहा थाना कोतवाली गिरफ्तारी के डर से भाग गया है। इन दोनों आरोपियों पर पहले से भी कई मुकदमे दर्ज हैं। दोनों नेे पूछतांछ में बताया कि थाना क्षेत्र के अंतर्गत मोहल्ले में रात में अपने साथियों के साथ घर में घुसकर मोबाइल आदि सामान चोरी करके बेंचकर कर खर्चा चलाते हैं। इसी क्रम में थाना नसीराबाद पुलिस ने एक मोटर साइकिल टीवीएस स्पोर्ट, तीन जोड़ी कपड़े, एक जोड़ी पायजेब चांदी की व रुपए 4000 नगद तथा धारदार चाकू, 16 चोरी के मोबाइल बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। प्रभारी निरीक्षक नसीराबाद राकेश सिंह ने मय उपनिरीक्षक मृत्युंजय बहादुर, हमराह कांस्टेबल चंदन सिंह व चीता कांस्टेबल गौरव सिंह तथा कांस्टेबल राजेश सिंह, दीनानाथ कुशवाहा ने मुखबिर की सूचना पर फरार चल रहे वारंटी अपराधी को चोरी की मोटरसाइकिल के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने नाम पता पूछा गया तो अपना नाम प्रमोद तिवारी व सोनू तिवारी पुत्र शिव दुलारे निवासी ग्राम कोलवा थाना नसीराबाद बताया। गहनता से पूछतांछ किया गया तो उसके पास से हजारों का माल व कई और सामान बरामद हुए। सभी सामानों की बरामदगी के बाद अभियुक्त के खिलाफ सम्बन्धित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर विधिक कार्यवाही की जा रही है। अभियुक्त से पूछताछ करने पर पता चला की सलोन, महाराजगंज से लेकर रायबरेली तक चोरी करता था। जिन्हें बेचने के लिए रायबरेली ले जाता था। पायल के बारे में पूछा गया तो बताया कि गांव के ही दिनेश तिवारी के मकान में सेंध लगाकर चोरी की थी जिसमें 8000 रुपए मिले थे, जिसे उसने खर्च कर दिए। पिंटू पाठक पुत्र भवानी प्रसाद पाठक ग्राम थाना बल्दीराय जनपद सुलतानपुर को देना बताया। पायजेब की पहचान के लिए दिनेश तिवारी को बुलाया गया तो पहचान कर बताया कि यह मेरी पत्नी की पायजेब है। इन पकड़े गए चोरों को जेल भेज दिया गया।