श्रमिकों को कार्य करते दौरान दबंगो ने पीटा

24

ऊंचाहार (रायबरेली)। गोलागंगा घाट पर नमामि गंगे तहत हो रहे गंगा तटो के जीर्डोद्धार के दौरान कार्य करवाने वाली संस्था के सुपरवाइजर समेत सात श्रमिकों के साथ मारपीट करके कार्य रूकवाने के मामले मे पुलिस ने सात घायलो मे महज एक श्रमिक का मेडिकल परीक्षण करवाने के बाद मुकदमा दर्ज करके जांच पड़ताल प्रारंभ कर दिया है।

बताते चले कि ऊंचाहार कोतवाली के गांव गोकना निकट गोलागंगा घाट है। जिस घाट पर नमामिगंगा के तहत गंगा तटों का जीर्णाद्धार करवाया जा रहा है। जिसका कार्य बीआरसी कंपनी नामक संस्था करवा रही है। जहां पर कंपनी के सुपरवाइजर प्रिंस (25) व श्रमिक चमन (55), बब्लू (18), नीरज (18), विजय (20), संतराम (21) व सुनील (22) पुत्र तेजपाल निवासीगण राखेड़ा थाना हसनपुर जिला अमरोहा को कार्य करते दौरान असलहों व हकियों व डंडो से लैस 16 से 17 अज्ञात हमलावरों के द्वारा मौके पर पहुंचकर मारपीट करके घायल कर दिया। जिसमे कार्य न करने की धमकी दिया।जिसको लेकर कार्य को संस्था रोक दिया है। जिसमे घायलों में महज सुनील को गंभीर चोटे आने पर पुलिस ने सीएचसी में भर्ती करवाया है बल्कि अन्य को मामूली चोटे आने पर प्राइवेट अस्पतालो मे उनका प्राथमिक उपचार करवाया गया। हालांकि मौके पर 11 श्रमिक कुल कार्यरत थे।सीएचसी अधीक्षक ने सीएचसी में घायलों में महज सुनील का ही इलाज होने का पुष्टि किया है। जबकि कम्पनी के सुपरवाइजर ने स्वयं समेत सात लोग के घायल होने का दावा किया है।उधर कोतवाली निरीक्षक ने बताया कि प्रकरण संज्ञान में है। जिसमे घायलों की ओर से सुनील कुमार निवासी राखेड़ा थाना हसनपुर जिला अमरोहा की तहरीर पर अज्ञात 16-17 अज्ञात हमलावारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके जांच पडताल किया जा रहा है।

अनुज मौर्य रिपोर्ट