साहब हमका हमार हक दिलाय दियो

186

डलमऊ रायबरेली – पति की मृत्यु के बाद पुत्रों ने पिता द्वारा बनाए गए मकान में अपना हिस्सा बांट कर मां को घर में हिस्सा ना देने से मजबूर होकर बूढ़ी मां को किराए के मकान में रहकर जीवन यापन के लिए दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर कर दिया अपनी समस्या के निराकरण के लिए बूढ़ी महिला ने कई बार डलमऊ कोतवाली में प्रार्थना पत्र देकर पति के मकान में जीवन यापन करने के लिए अपने हिस्से की मांग की। लेकिन उसकी सुनने वाला कोई नहीं मजबूर होकर वृद्ध महिला किराए के मकान में रहकर मजदूरी से अपना पेट पाल रही है।
डलमऊ कस्बे के मोहल्ला आदर्श नगर निवासी राजकुमारी पत्नी स्वर्गीय देवी प्रसाद ने बताया कि पति की मृत्यु के पश्चात उसके तीनों पुत्रों ने पति द्वारा बनाए गए मकान में अपना अपना हिस्सा बांट कर बूढ़ी मां को रहने के लिए हिस्सा नहीं दिया जिससे मजबूर होकर बूढ़ी मां किराए के मकान में रहकर मजदूरी करके अपना जीवन यापन कर रही है पीड़िता राजकुमारी ने बताया कि न्याय के लिए कई बार उप जिलाधिकारी और कोतवाली डलमऊ में प्रार्थना पत्र दिया गया लेकिन किसी ने उसकी फरियाद नहीं सुनी जिससे उसे जीवन यापन करने में दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही है कोतवाली प्रभारी श्री राम ने बताया कि मामले की जानकारी नहीं है और यदि प्रार्थना पत्र दिया गया है तो जांच कर उसे न्याय दिलाया जाएगा।

अनुज मौर्य/विमल मौर्य रिपोर्ट