फ़र्ज़ी काल सेन्टर का भांडाफोड़ चार जालसाज़ गिरफ्तार

95
  • लखनऊ साईबर सेल को मिली बड़ी सफलता
  • लखनऊ।एसएसपी लखनऊ के निर्देशन मे काम कर रहे साईबर सेल को एक बहोत बड़ी कामयाबी हाथ लगी । एएसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा और सीओ हज़रतगंज अभय मिश्रा के नेतृत्व मे काम कर रहे साईबर सेल के प्रभारी विजयवीर सिंह ने अपनी टीम के साथ मंड़ियाव थाना क्षेत्र के अलीगंज इलाके मे काल सेन्टर चला कर पूरे भारत के लोगो से ठगी का कारोबार करने वाले चार ठगो को गिरफ्तार करने मे कामयाबी हासिल की है । गिरफ्तार किया गया एक ठग बी.टेक आईटी की पढ़ाई कर चुका है जब की दूसरा एलएलबी पास है । शतिर दिमाग पढ़े लिखे इन ठगो ने जालसाज़ी का ऐसा गोरखधंधा चला रखा था जिसमे इन लोगो पर जल्दी किसी को शक भी न हो अलीगंज इलाके मे काफी लम्बे समय ठगो द्वारा चलाए जा रहे काल सेन्टर मे लड़के लड़किया काम करते थे। पुलिस ने संकलित सूचना के आधार पर चार लोगो को गिरफ्तार किया है जबकि इनका एक साथ अभी फरार बताया जा रहा है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि दुरबासा बाज़ार फुलपुर आज़मगढ़ का रहने वाला गौरव सिंह, मदगिरपुर सुलतानपुर का रहने वाला अर्पित सिंह यही का रहने वाला अतुल कुमार सिंह नागलोई दिल्ली का रहने वाला सूरज सोनी को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया है। जबकि इन जालसाज़ो का एक साथी अमित सिंह अभी फरार है। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए जालसाज़ो ने पुलिस को बताया कि इनका फरार साथी अमित सिंह भारत के विभिन्न प्रदेशो मे रहने वाले लोगो के मोबाईल का डेटा उपलब्ध कराता था अमित से मिले मोबाईल नम्बरो पर जालसाज़ो द्वारा खोले गए काल सेन्टर मे काम करने वाले युवक युवतियो से उन्ही नम्बरो पर काल कराई जाती थी काल कर लोगो को लोन इन्श्योरेन्स विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट खरीदने की बात कही जाती थी जो लोग इन जालसाज़ो के जाल मे फंस जाते थे उनका बाकायदा रजिस्ट्रेशन कराया जाता था और रजिस्ट्रेशन के नाम पर विभिन्न खातो मे पैसा जमा कराया जाता था यही नही जालसाज़ो द्वारा बाकायदा एक वेबसाईड भी बनाई गई थी । काल सेन्टर के ज़रिए देश के कई राज्यो के लोगो को काल की जाती थी । पढ़े लिखे ये जालसाज़ काफी हाईटेक दिखते थे और पूरी शानो शौक़त से रहते थे। पुलिस ने इन जालसाज़ो के पास से 12 क्म्प्यूटर 12 सीपीयू 18 डेटा डायरी 2 उपस्थिति रजिस्टर पीड़ितो की डेटा शीट बायोमेट्रिक मशीन 5 मोबाईल फोन 20 सिम कार्ड के आलावा जालसाज़ो के फर्ज़ी आधर और पेन कार्ड बरामद किए है। पुलिस अब इन जालसाज़ो के फरार साथी अमित सिंह की तलाश कर रही है। बताया जा रहा है कि हाईटेक तरीके से जालसाज़ी का धंधा चलाने वाले इन जालसाज़ो की ऊॅची पहुॅच है लेकिन पुलिस के सामने इन जालसाज़ो का रसूक बौना साबित हुआ और पुलिस ने फर्ज़ी काल सेन्टर चला कर ठगी का कारोबार करने वाले इन जालसाज़ो को उनकी असली जगह सलाखो के पीछे पहुॅचा दिया। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार किए गए जालसाज़ो के खिलाफ भारत के विभिन्न राज्यो मे मुकदमे पंजिकृत कराए जा रहे है।