55 रु मंथली लगाकर हर माह 3000 रु पेंशन, मोदी सरकार की नई स्कीम

88

अगर आप कम इन्वेस्टमेंट के जरिए रिटायरमेंट के बाद एक निश्चित पेंशन पाना चाहते हैं तो मोदी सरकार का नया एलान काम आएगा.

अगर आप कम इन्वेस्टमेंट के जरिए रिटायरमेंट के बाद एक निश्चित पेंशन पाना चाहते हैं, तो मोदी सरकार का नया एलान काम आएगा. बजट 2019 में अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने एक ऐसी स्कीम की घोषणा की जो अनआर्गेनाइज्ड सेक्टर के कर्मचारियों को 60 साल की उम्र के बाद एक निश्चित पेंशन पाने में मदद करेगी. यह स्कीम है प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना यानी PMSYM.

क्या है यह स्कीम?

अनऑर्गेनाइज्ड यानी अंसगठित सेक्टर में काम करने वाले उस हर व्यक्ति को, जिसकी आय 15,000 से कम है, सरकार उसे मंथली पेंशन देगी. इस योजना के तहत 60 साल की उम्र से हर महीने 3000 रुपये की पेंशन मिलेगी. इसका फायदा कम आमदनी वाले श्रमिकों को होगा. इसमें घरेलू मेड, ड्राइवर, इलेक्ट्रिशियन या इस तरह के सभी वर्कर्स आदि शामिल हैं.

कितना करना होगा निवेश

अगर कोई कर्मचारी 29 साल का है तो उसे इस योजना में पेंशन पाने के लिए 60 साल की उम्र तक हर महीने 100 रुपये जमा कराने होंगे. अगर कोई कर्मचारी 18 साल की उम्र में इस योजना को लेता है तो उसे हर महीने 55 रुपये जमा करने होंगे. यह स्कीम चालू वित्त वर्ष यानी 2018-19 से ही लागू हो जाएगी.

कितने लोगों को होगा फायदा

सरकार का दावा है कि इस योजना से अगले 5 सालों में असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ कर्मचारियों को फायदा होगा. यह योजना आने वाले 5 साल में असंगठित क्षेत्र के लिए दुनिया की सबसे बड़ी पेंशन योजना बन सकती है. सरकार बजट में इस योजना में शुरुआत में 500 करोड़ रुपये मुहैया करा रही है. बाद में इसके लिए और भी ज्यादा राशि उपलब्ध कराई जाएगी.