इस विद्यालय के शिक्षक नहीं मानते जिलाधिकारी के आदेशों को

301

D M का आदेश ठेंगे पर विद्यालय नहीं पहुंच रहे शिक्षक

डलमऊ (रायबरेली)। परिषदीय विद्यालयों में जिलाधिकारी का आदेश बेअसर साबित हो रहा है। जहां शीतलहर को देखते हुए जिलाधिकारी ने समस्त परिषदीय विद्यालयों को शिक्षण कार्य स्थगित रखने का आदेश दिया है वहीं अध्यापकों को विद्यालय में समय पर पहुंचकर कायाकल्प योजना व अन्य योजनाओं को समय से पूरा करने के लिए अध्यापकों को विद्यालय में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं किंतु विकास खण्ड दीन शाह गौरा में जिला अधिकारी का आदेश परिषदीय शिक्षकों पर बेअसर साबित हो रहा है। वही विकासखंड में तैनात खंड शिक्षा अधिकारी मामले से पल्ला झाड़ते हुए नजर आते हैं। मामला विकासखंड दीन शाह गौरा के प्राथमिक विद्यालय पूरे जय सिंह का है जहां पर शुक्रवार को 11:00 बजे तक विद्यालय में ताला लटकता रहा। हकीकत जांचने पहुंचे मीडिया कर्मियों के पहुंचने की सूचना पाते ही विद्यालय पहुंचे प्रधानाध्यापक विजय सिंह आग बबूला हो गए उन्होंने विद्यालय अपनी मर्जी से खोलने और बंद करने का फरमान सुनाते हुए विद्यालय से बाहर चले जाने का आदेश जारी कर दिया। वही जब इस मामले की शिकायत खंड शिक्षा अधिकारी से की गई तो उन्होंने मामले से अनभिज्ञता जताई तथा खंड शिक्षा अधिकारी राकेश कुमार ने किसी तरह का बयान देने से इनकार कर दिया उनका कहना था कि वह फोन पर किसी को कोई बयान नहीं देते जानकारी करनी है तो ऑफिस में आकर मिलो।

विद्यालय में लगा गंदगी का अंबार

जहां एक ओर शिक्षण संस्थानों में साफ-सफाई की बेहतर व्यवस्था किए जाने के लिए दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। वहीं विकासखंड गौरा के प्राथमिक विद्यालय पूरे जयसिंह में गंदगी का अंबार लगा हुआ है। यहां तक विद्यालय की स्थिति को देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि कई वर्षों से भवन की रंगाई पुताई भी नहीं की गई है। विद्यालय भवन में कहीं भी वॉल पेंटिंग व मीनू तक नहीं दर्शाया गया है विद्यालय भवन पर विद्यालय का नाम व विद्यालय कोड भी अंकित नहीं है ।

अनुज मौर्य/विमल मौर्य रिपोर्ट

Previous articleश्री साई नाथ सेवा समिति क़े पदाधिकारियों ने गरीब, असहाय व निराश्रित महिलाओ को कंबल वितरित किये
Next articleसरकारी नल पर कपड़ा धोने के विवाद में विवाहिता सहित तीन लोगों की दबंगो ने कर दी पिटाई