उम्मीद हारी तो कुण्ठा हुई भारी, पीड़ित ने मांगी सपरिवार इच्छा मृत्यु

209
  • तीन वर्ष पहले हुई बेटे की मौत का इंसाफ मांग रहे परिवार का धैर्य टूटा
    रायबरेली। बीते तीन वर्षों से अपने बेटे की हत्या का इंसाफ मांग रहे एक परिवार ने मंगलवार को डीएम के माध्यम से पत्र भेजकर महामहिम राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी है। जिले से लेकर राजधानी में बैठे नौकरषाही और उसके आकाओंकी चैखट पर सैकड़ों बार मत्था टेकने के बाद भी जब इस परिवार को न्याय नहीं मिला तो इसने सपरिवार इच्छा मृत्यु की पेषकष कर दी। पुलिस, प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री तक वह न्याय की गुहार लगाने के बाद भी न्याय न मिलने से परिवार टूट चुका है। रायबरेली जनपद के बछरावां थाना क्षेत्र के खैरहनी गांव के रहने वाले गुलाब सिंह अपनी पत्नी व तीन बच्चांे के साथ मंगलवार को जिलाधिकारी कार्यालय पहंुचे और सिटी मजिस्ट्रेट से मिलकर इच्छा मृत्यु की मांग की। पीड़ित की माने तो उसके बेटे राजेन्द्र कुमार की आज ही के दिन तीन वर्ष पूर्व हत्या कर दी है जिस मामले में पुलिस ने चार माह बाद मुकदमा दर्ज किया और एक ही महीने में जांच पूरी करके एफआर लगा दी। पीड़ित का आरोप है कि वह लगातार तीन वर्षों से पुलिस प्रशासन के साथ-साथ लखनऊ के आलाधिकारियों की चैखट के चक्कर न्याय के लिए लग रहा हैं पर उसको न्याय नहीं मिल सका। उसने जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन दिया है, और न्याय न मिलने पर ईच्छा मृत्यु की मांग की है। ज्ञापन के संबंध में सिटी मजिस्ट्रेट जय चंद्र पांडेय ने बताया कि एक परिवार उनके पास आया था और न्याय की गुहार लगाई है। उल्लेखनीय है कि इस पीड़ित बाप का मुकदमा तत्कालीन तेज तर्रार जिला अधिकारी सूर्यपाल गंगवार के आदेष पर दर्ज हुआ था। उसके बाद पुलिस ने जांच में लीपापोती कर दी।

Previous articleस्टोव फटने से पति-पत्नी और बेटा गंभीर
Next articleजियो फोन यूर्जस के लिए खुशखबरी, इस तारीख से फोन में चला सकेंगे व्हाट्सएप