जिलाधिकारी के सीक्रेट मिशन ने उड़ाई जिले के सभी अधिकारियों की नींद ,ताबड़तोड़ जांचों से कामचोर अधिकारी व कर्मचारियों के फूले हाथ पाँव

498

महराजगंज रायबरेली
जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने गुरुवार को तहसील क्षेत्र के सोथी व जरैला गांव पहुँच कर सरकारी जमीनों , तालाब बंजर व गावों में बने सरकारी आवासों का निरीक्षण किया। इस दौरान जर्जर पड़े भवनों को तत्काल मरम्मत कराए जाने के आदेश दिए तो वहीं मिली खामियों पर लेखपाल को फटकार लगायी।

पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत सोथी गांव पहुची जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने गाटा संख्या 265 का भौतिक सत्यापन किया जहाँ पर स्थित मंदिर के बगल में पड़े तालाब का सौंदर्यीकरण कराने का आदेश दिया। साथ ही रविवार को पंचायत सेक्रेटरी व लेखपाल को बैठकर ग्रामीणों की समस्या सुनने का आदेश दिया। जिसके बाद जरैला गांव पहुँची डीएम को आंगनबाड़ी , बारात घर व प्राथमिक विद्यालय के भवन जर्जर मिले जिसपर उन्होने बीडिओ अमावा जैनित कांत को तत्काल भवनों की मरम्मत कराने के निर्देश दिए ।

गाटा संख्या 302 पर दर्ज तालाब की सही रिपोर्ट ना देने पर लेखपाल अमित शुक्ला को फटकार लगायी और गांव में 2 और तालाब मनरेगा से खुदवाये जाने के आदेश दिए। इस दौरान उन्होने ग्रामीणों से शौचालय आदि के बारे में जानकारी ली तो वहीं रामकली पत्नी राम खेलावन का कच्चा मकान देख उसमे घुस गयी और रामकली को जल्द कालोनी दिलाने का आश्वासन भी दिया। तो वहीं ग्रामीणों को सरकारी जमीनों पर कब्जा न करने की हिदायत देतें हुए कब्जेदारो को चिन्हित कर कार्यवाही करने की बात कहीं । इस दौरान उपजिलाधिकारी विनय कुमार सिंह, नायब तहसीलदार , कानून गो , लेखपाल , पंचायत सेक्रेटरी व ग्राम प्रधान मौजूद रहे।

अनुज मौर्य/अशोक यादव रिपोर्ट

Previous articleजगतपुर का एटीएम बना सफेद हाथी
Next articleधान खरीदे हुए ढाई माह बीते लेकिन नहीं आया किसानों के खाते में पैसा जिम्मेदार आखिर क्यों है मौन