नई एसडीएम के सख्त तेवरों से मिलने लगा न्याय

301

बछरावां (रायबरेली)। समाधान दिवस पर फरियादियों की फरियाद सुनने के लिए
तहसील की नवागंतुक उपजिलाधिकारी शालिनी प्रभाकर के कड़े तेवर व त्वरित
न्याय दिलाने की प्रक्रिया फरियादियों के लिए चर्चा का विषय बनी हुई है।
बछरावां के नगर पंचायत अध्यक्ष शिवेन्द्र चौधरी उर्फ रामजी और अधिशाषी
अधिकारी अजीत बागी ने कस्बे की जल समस्या को अवगत कराया। उन्होंने बताया
कि कस्बे का सबसे महत्वपूर्ण नाला बंद कर दिया गया है। जिसको लेकर जलभराव
की समस्या बनी रहेगी। एसडीएम ने समाधान दिवस को छोडक़र मौके पर पहुंचकर
किसान भूपत सिंह से बातचीत की।
बातचीत के दौरान किसान ने बताया कि सरकारी अभिलेखों में नाला दर्ज नहीं
था। जिसके चलते नाले को बंद कर नाले को दूसरी तरफ से खुदवा दिया गया है
जिस पर उपजिलाधिकारी ने किसान की दरियादिली पर उसको धन्यवाद देते हुए
नाले की सफाई कराने के दिशा-निर्देश दिए और कहा कि जल निकासी के लिए आपका
सहयोग भी सराहनीय है। जनहित में नाले नाले बंद करना उचित नहीं है इसलिए
नाले को खेत के किनारे किनारे खुदवाकर निकाला गया है। नगर पंचायत अध्यक्ष
और किसान भूपत सिंह की मौजूदगी में विवाद को टालते हुए सुलहनामा लिखा कर
कानूनगो के समक्ष उपजिलाधिकारी की मौजूदगी में किसान द्वारा बयान भी दर्ज
कराए गए हैं। इसी दौरान एक महिला द्वारा उसकी जमीन पर कब्जे की शिकायत की
गई। जिस पर उपजिलाधिकारी ने कानूनगो के माध्यम से मौके की रिपोर्ट त्वरित
प्रस्तुत करने के दिशा निर्देश दिए हैं। इसी दौरान उपजिलाधिकारी ने सभी
लेखपालों को हिदायत दी है कि भूमियों की वरासत त्वरित करें। जिससे कि
भूमि के वास्तविक स्वामियों को दर-दर न भटकना पड़े। इस दौरान प्रभारी
निरीक्षक जीडी शुक्ला ने कहा कि राजस्व की सहायता से भूमि को विवाद को
निपटाने में पुलिस पूरा सहयोग कर रही है।  शांति व्यवस्था बनाए रखने के
लिए त्वरित कार्यवाही भी लगातार की जा रही है। उन्होंने थाने पहुंचकर 12
प्रार्थना पत्रों पर त्वरित कार्यवाही के निर्देश बछरावां कानूनगो प्रदीप
श्रीवास्तव को दिए। मौके की स्थिति जांच कर उप जिला अधिकारी कार्यालय में
तीन दिन के अंदर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के आदेश जारी किए। जबकि कस्बे
वासियों की शिकायत पर नगर पंचायत द्वारा निर्मित शौचालय पर कब्जे की
शिकायत भी की गई थी। जिसके लिए उप जिलाधिकारी ने बड़ी कार्यवाही करते हुए
शौचालय को पुलिस बल के साथ खाली कराने के निर्देश दिए। नगर पंचायत
निर्मित शौचालय को खाली कराया गया। इस दौरान वरिष्ठ लिपिक अशोक कुमार
वर्मा, बीट सिपाही आबिद अली, अयूब खान, समाजसेवी रामू सिंह, अब्बास सहित
बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे।

Previous articleवन महोत्सव केतहत अफसरों ने किया पौधरोपण
Next articleतीन घरों में चोरों ने लगाई लाखों की चपत