बसपा की विधायक प्रत्याशी अंजली समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हुई

98

रायबरेली-लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर विभिन्न राजनीतिक पार्टियों में भगदड़ मची हुई है।चाहे वह सपा हो,बसपा हो,या कांग्रेस हो अपने नेताओं को संभालने में नाकाम साबित हो रही है।यही नहीं कई नेता ऐसे भी है।जिनको लोकसभा का टिकट न मिलने पर भाजपा से नाता तोड़ना पड़ रहा है।रायबरेली जनपद में लगातार विभिन्न पार्टियों से पदों पर आसीन नेता उन पार्टियों को छोड़ भाजपा में शामिल हो रहे हैं।समाजवादी पार्टी के ऊंचाहार विधानसभा के विधायक मनोज पांडे के भाजपा में जाने के बाद, उनके विरोध में बसपा के टिकट पर 2022 में विधानसभा का चुनाव लड़ी अंजली मौर्य ने भी रविवार 17 मार्च 2024 को अपने समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हो गई है।

गौरतलब है कि,विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी रहे अमरपाल मौर्य,समाजवादी पार्टी के मनोज पांडे को, करारी टक्कर देने वाली तीसरे नंबर पर पहुंची,अंजलि मौर्य ने आज बसपा छोड़कर भाजपा जिला अध्यक्ष बुद्धि लाल पासी,महामंत्री अमरेश मौर्य सहित अन्य भाजपा पदाधिकारीयों की अध्यक्षता में भाजपा का दामन थाम लिया है।रायबरेली में धीरे-धीरे अपना जनाधार व जमीन खो चुकी बहुजन समाज पार्टी के नेता कार्यकर्ता सब पार्टी छोड़कर दूसरी पार्टियों में शामिल हो रहे हैं। जानकारी अनुसार बता दें कि विधानसभा चुनाव 2022 में बसपा के टिकट पर विधायक पद की प्रत्याशी रही,अंजलि मौर्य पत्नी सपा नेता जितेंद्र मौर्य ने फिर से अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करते हुए इस बार राष्ट्रीय स्तर की पार्टी में बसपा छोड़कर समर्थकों के साथ शहर कोतवाली क्षेत्र के गोरा बाजार स्थित लोकसभा 36 के अस्थाई केंद्रीय कार्यालय में बीजेपी में शामिल हुई है।अंजलि मौर्य के साथ भाजपा जिला अध्यक्ष बुद्धिलाल पासी,महामंत्री अमरेश मौर्य, जिला पंचायत सदस्य अमावा प्रत्याशी राजनारायण मौर्य, संतोष गुप्ता पूर्व जिला अध्यक्ष भाजपा, गिरीश ओझा ऊंचाहार सहित सैकड़ो लोग मौजूद रहे।

अनुज मौर्य रिपोर्ट

Previous articleभाजपा ने पूरे प्रदेश को दिया चौबीस घण्टे बिजली: अरविंद श्रीवास्तव
Next articleडम्फर की चपेट में आने से स्कूटी सवार महिला की हुई दर्दनाक मौत