सिपाही के साथ आखिर पिता पुत्र ने क्यों करी मारपीट

659

महराजगंज,रायबरेली-कोतवाली क्षेत्रांतर्गत  बैंक के बकायेदार के घर सम्मन तामील कराने गए सिपाही से पिता पुत्र ने मारपीट कर दी। साथी सिपाही ने किसी तरह पिता पुत्र को समझा कर मामले को शांत कराया। मामला पूरे फेरु मजरे पहरे मऊ का है। इसी गांव निवासी श्री पाल स्टेट बैंक का बकायेदार है। जिसको लेकर श्रीपाल के नाम विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा समन भेजा गया था।  मंगलवार को महराजगंज कोतवाली में तैनात सिपाही संदीप सिंह व राहुल वर्मा  समन तामील कराने गए थे। जहां सिपाही व आरोपित श्री पाल से बहस के बाद हाथापाई हो गई। मामले में सिपाही संदीप सिंह की तहरीर पर आरोपित श्रीपाल के खिलाफ पुलिस ने सरकारी कामकाज में बाधा डालने सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। कोतवाल बालेंदु गौतम ने बताया कि केस दर्ज किया गया है कार्रवाई की जाएगी।

यह था पूरा मामला

बीते वर्ष मई में श्रीपाल के 12 वर्षीय बेटे सत्यम का शव गांव से बाहर पीपल के पेड़ से लटका मिला था। श्रीपाल का आरोप है कि स्थानीय पुलिस की  हीलाहवाली से उसके बेटे की हत्या के मामले का खुलासा व कार्रवाई नही हुई। जिसको लेकर वह पुलिस से खिन्न था। समन लेकर पहुंचे सिपाही ने फोन कर कहा कि पहरेमऊ पुत्तन साहू की दुकान पर बैठे हैं तुम्हारा सम्मन है आकर ले लो। इस पर श्री पाल ने कहा कि जहां आप बैठे हैं मेरी उनसे नहीं बनती, अपनी दुकान पर बैठे हैं यही दे दो। जिसके बाद झल्लाकर सिपाही ने फ़ोन पर कहा कि मैं तुम्हारे बाप का नौकर नहीं हूं। इस पर ही दोनों में फोन पर बहस हुई। बहस के बाद दुकान पर पहुंचे सिपाही संदीप ने श्री पाल को थप्पड़ जड़ दिया। जिसके बाद दोनों में हाथापाई हुई।

क्या कहते हैं ज़िम्मेदार

क्षेत्राधिकारी यादवेन्द्र पाल ने बताया कि सिपाही ने पुत्तन साहू की दुकान पर समन लेने के लिए श्री पाल को बुलाया था। जब उसने मना किया तो सिपाही उसकी दुकान पर गया जहां दोनों में हाथापाई हुई है। प्रकरण की जांच कराई जा रही है।

अनुज मौर्य/एडवोकेट अशोक यादव रिपोर्ट

Previous articleतिलक से लौट रहे पिता पुत्र की सड़क दुर्घटना में मौत
Next articleलालगंज फ्लाइओवर सहित कई अन्य सड़को का होगा जल्द निर्माण- अजय अग्रवाल