शुरू हुआ “एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर”अभियान

176

रायबरेली-जिले में मातृ-शिशु मृत्यु दर में कमी लाने व गर्भवती व धात्री के पोषण को सुनिश्चित करने के उद्देश्य समस्त जिला एवं ब्लॉक स्तरीय स्वास्थ्य इकाइयों पर “एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर अभियान की शुरुआत की गई। सीएमओ डॉ वीरेन्द्र सिंह  ने बताया कि 01 सितम्बर 2022 से 30 सितम्बर 2022 तक चलने वाले इस अभियान के दौरान गर्भवती व धात्री महिलाओं को आयरन, कैल्शियम ,अल्बेंडाजोल व फोलिक एसिड की गोलियां प्रदान की जायेंगी। साथ ही आशा और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर गर्भवती और धात्री महिलाओं को चिन्हित करेंगी व समय-समय पर उनकी सेहत की स्थिति देखी जाएगी।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी आरसीएच एके चौधरी द्वारा बताया गया कि अभियान में प्रसव पूर्व जांच व समय से गोलियों के सेवन के लिए जागरूक किया जाएगा व मातृ पोषण के लिए आवश्यक सभी दवाएं मुफ्त दी जाएंगी। एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर अभियान के तहत मिलने विभिन्न सेवाएं सभी स्वास्थ्य इकाईयों, पीएमएसएमए डे,ओपीडी और आईडीपी, ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण दिवस (वीएचएसएनडी), मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला के माध्यम से दी जाएंगी।

जिला कार्यक्रम प्रबंधक राकेश प्रताप सिंह द्वारा बताया की होने वाली गतिविधियों –

-प्रथम त्रैमास वाली सभी गर्भवती को फोलिक एसिड उपलब्ध कराना।

  • दूसरे और तृतीय त्रैमास की सभी गर्भवती से पूर्व में दिए गए आयरन, फोलिक एसिड, कैल्शियम की गोलियों के बारे में जानकारी लेना। अगले दिनों के लिए दवा उपलब्ध कराना।
  • सभी गर्भवती का वजन व लंबाई लेना। इसके लिए वजन मशीन और टेप का प्रयोग किया जाए।
  • पिछली प्रसवपूर्व जांच में लिए गए वजन से तुलना कर वजन में वृद्धि का आंकलन करना।
  • सभी गर्भवती के पेट की जांच करना।
  • उच्च जोखिम गर्भावस्था( एचआरपी) वाली महिलाओं की पहचान कर इलाज सुनिश्चित करना।
  • आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और एएनएम द्वारा उच्च जोखिम गर्भावस्था वाली महिलाओं का फॉलोअप करना।

जिला मातृ स्वास्थ्य परामर्शदाता यासीन अहमद द्वारा
बताया गया कि गर्भावस्था व प्रसव उपरान्त महिलाओं को बेहतर पोषण की आवश्यकता होती है। आयरन फोलिक एसिड व कैल्शियम की गोलियां प्रत्येक गर्भवती व धात्री महिलाओं को दी जाती हैं। फोलिक एसिड शिशु को जन्मजात होने वाली गंभीर बीमारियों से बचाता है। एवं कैल्शियम शिशु की हड्डियों व दांत के विकास के लिए बेहद आवश्यक होता है।

अनुज मौर्य रिपोर्ट

Previous articleअनियंत्रित तेज रफ्तार ट्रक मकान में घुसा, घर के बाहर सो रहे युवक की हुई दर्दनाक मौत
Next articleप्रदेश सरकार के दावा की किरकिरी करा रही गड्ढा युक्त सड़के