खाद्य विभाग ने पकड़ा ढाई कुंतल नकली खोया,कानपुर से रोडवेज बस में लाद कर लाया जा रहा था खोया

503

लालगंज (रायबरेली)जिले की खाद्य विभाग टीम ने शुक्रवार को कानपुर से रोडवेज बस में लादकर लाया जा रहा करीब ढाई कुंतल नकली खोया पकड़ लिया। अधिकारियों ने पकड़े गए खोए को गड्ढा खुदवाकर डिस्पोज करा दिया। कस्बे में नकली खोए के कारोबार अपने चरम पर है। त्योहारों के मद्दे नजर कानपुर लखनऊ सहित अन्य शहरों से बड़ी मात्रा में नकली खोए और मिठाई की आमद अचानक बढ़ जाती है, इसी का एक नमूना शुक्रवार की शाम को देखने को मिला। लालगंज कस्बे के एक व्यापारी का कानपुर से करीब ढाई कुंतल नकली खोया लाया जा रहा था। तभी मुखबिर की सूचना पर खाद्य विभाग की टीम ने उसे कानपुर रोड पर एसजेएस पब्लिक स्कूल के निकट ही पकड़ लिया। जिला खाद्य निरीक्षक इंद्र बहादुर यादव ने बताया कि ढाई कुंतल नकली खोया बरामद हुआ है। उसे नियमानुसार गद्दा खुदवा कर निस्तारित करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि यह खोया लालगंज कस्बे के खोया व्यापारी वासुगढ़ी मोहल्ला निवासी तुषार गुप्ता का बताया जा रहा है। कहा कि टीमें जगह-जगह लगाई गई है, अभियान चला कर इस तरह मिलावटी और नकली खोया और मिठाइयों की जांच पड़ताल की जा रही है। लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वाले आरोपितों को बख्शा नहीं जाएगा। इनके विरुद्ध केस दर्ज करा कर मिलावट पर अंकुश लगाया जाएगा।

नकली मिठाई और दूध का गढ़ है लालगंज का बाजार

कस्बा एक बड़ी व्यापारिक मंडी होने के साथ-साथ एक सघन आबादी वाला क्षेत्र है। प्रतिवर्ष होली दीपावली सहित अन्य त्योहारों में हजारों कुंतल मिठाई की खपत होती है। इसी खपत को देखकर मिठाई विक्रेता बड़ी आमदनी के चक्कर में लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करते हैं। खाद्य विभाग की सांठगांठ से कई दुकानदार विगत कई वर्षों से नकली खोया, दूध, पनीर का गोरख धंधा संचालित कर रहे हैं। नकली और मिलावटी होने के कारण यह कीमत में सस्ता बिकता है। इसी वजह से बड़ी संख्या में ग्राहक इन्हीं दुकानों में जाकर मिलावटी दूध पनीर और खोया की खरीदारी करने को मजबूर हैं।

अनुज मौर्य/सन्दीप फ़िज़ा रिपोर्ट

Previous articleकार्ड धारकों से कोटेदारों द्वारा की जा रही अवैध वसूली ।
Next articleसेमीकॉन इंडिया से बदलेगी भारत की तस्वीर- अजय अग्रवाल