पत्रकार को दबंगों ने फोन पर दी जान से मारने की धमकी, चौकी में नहीं हुई कोई सुनवाई, क्या डीजीपी साहब के आदेशों को नहीं जानते चौकी इंचार्ज साहब

606

लालगंज (रायबरेली)। जहां एक ओर मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश व डीजीपी का पत्रकार सुरक्षा को लेकर सभी जिलों को सख्त निर्देश हैं कि किसी पत्रकार के साथ कोई भी दुर्व्यवहार करता हैं या उसके परिवार को परेशान करता हैं तो तत्काल पुलिस उस पर सख्त कार्यवाही करें ,लेकिन ये निर्देश शायद सफेद हाथी साबित हो रहे है मामला रायबरेली जिले के लालगंज तहसील क्षेत्र का है जहां साप्ताहिक समाचार पत्र के पत्रकार को बिना किसी दोष के गाँव के ही दो लोगों ने जान से मारने व हाथ पैर तोड़ने की फोन पर धमकी दे डाली। पत्रकार की ओर से मामले की शिकायत जब संबंधित चौकी को दी गई तो वहाँ उसकी कोई सुनवाई नही हुई ,इतना ही नही दबंगों की वजह से पत्रकार को गाँव में रहना दुश्वार हो गया है।

मामला लालगंज कोतवाली क्षेत्र के भीरा गोविंदपुर निवासी हेमंत अग्रहरि जो कि एक साप्ताहिक समाचार पत्र के संवाददाता है।

हेमंत अग्रहरि का कहना है कि गाँव के ही में ही पंकज कुमार व पुतान ने उसे फोन पर जान से मारने के साथ गालियां व हाथ पैर तोड़ने की धमकी बेवजह दी है जिसकी बाकायदा फोन पर रेकॉर्डिंग भी हैं जिसके बाद पत्रकार ने सम्बंधित चौकी पर शिकायत भी करी लेकिन कोई भी उसकी सुनवाई नहीं हुई वही आरोपि पत्रकार को खुलेआम जान से मारने की धमकी दे रहा हैं। इस संबंध में जिले के पत्रकारों व पत्रकार संगठन
में काफी रोष हैं सभी पत्रकारो ने मामले में आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की करी है।

अनुज मौर्य रिपोर्ट

Previous articleट्रक ने बाइक सवारों को मारी टक्कर एक कि मौत एक गम्भीर रूप से घायल
Next articleसलोन सीओ के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है इस प्रतिबंधित कारोबार पर नकेल लगाना